बाहुबली बनने शौक में सरेआम बेइज्‍जत हुए विधायक

: एक अदने से प्रधान-पति ने बस्‍ती के विधायक के सारे बस-बल को निर्वस्‍त्र कर डाला : चाहरदीवारी गिराने को लेकर भड़के थे भाजपा के हरैया विधायक अजय सिंह : फोन पर बमक पड़े, तो सारी कलई उतार दी गयी : मामला थाने पर, लेकिन राज्‍यश्रय के चलते कार्रवाई अब तक नहीं :

मेरी बिटिया संवाददाता

बस्ती : एक विधायक हैं अजय सिंह। पूर्वांचल के जिला बस्‍ती में हरैया उनकी निर्वाचन भूमि है। राजनीति में शुरू से ही सबसे ऊंचे पायदानों को नापने की लम्‍बी-लम्‍बी ख्‍वाहिशें पाले रहे हैं अजय सिंह। इसके लिए पहले उन्‍होंने कांग्रेस का दामन था, लेकिन वहां जब अहसास हो गया कि कांग्रेस में उनकी दाल नहीं गल पायेगी, तो वे लपक कर भाजपा की गोदी में बैठ कर नामनामी चुसनी चूसने लगे। हालांकि उसके पहले, सूत्र बताते हैं कि उन्‍होंने बाहुबली बनने की दिशा में भी कोशिश की थी। एक हत्‍या में उनका नाम भी उछला। खैर

भगवा-कलर की आंधी में भाजपा से वे विधायक तो बन गये, लेकिन अपनी छवि दबंग बनाने की हरचंद कोशिश करते रहे। काफी दिनों तक उनकी यह कोशिश सफलीभूत होती रही, इसी से उनके हौसले भी बढ़ते गये। किसी को भी बेअंदाजी से पेश करना उनके स्‍वभाव का हिस्‍सा बनने लगा। लेकिन शुक्रवार को उनकी पूरी छवि का कबाड़ा बन गया है। वजह है एक छोटे से गांव का एक अदना सा प्रधानपति। विधायक ने जब इस प्रधानपति को गियर में लेने की कोशिश की, तो कुछ देर तक तो वह सुनना रहा और आरोपों का प्रतिवाद करता रहा, लेकिन उसके बाद अचानक वह बमक पड़ा। बात यहां तक पहुंच गई कि उसने अजय सिंह विधायक को यहां तक कह दिया कि:- ओ अजय सिंह, अपनी जुबान को सम्‍भालो। वरना अगर हमने जवाब देना शुरू किया तो तुम्‍हारे पास कोई रास्‍ता नहीं बचेगा।

तो साहब कल शाम से ही एमएलए अजय सिंह ने इस जमीन विवाद में प्रधान के पति को धमकी दी थी, उसका ऑडियो अब पूरे इलाके में वॉयरल हो चुका है। बस्ती-लखनऊ हाईवे से सटे विधानसभा के हरैया भाजपा विधायक अजय सिंह का ऑडियो अपराह्न करीब डेढ़ बजे वायरल होते ही जिले में हड़कंप मच गया। करीब दो मिनट के इस ऑडियो में हाईवे से सटी एक जमीन का बाउण्ड्रीवाल गिराए जाने से विधायक काफी नाराज हैं। बातचीत में उन्होंने प्रधानपति आरके सिंह पर बाउण्ड्रीवाल गिराए जाने का आरोप लगाया। बोले कि गुंडई नहीं चलेगी।

विधायक ने जमीन पर अपना मालिकाना हक जताते हुए प्रधानपति को धमकाया भी है। उधर, जवाब में प्रधानपति ने भी विधायक से उनके द्वारा बाउण्ड्री नहीं गिराए जाने की बात कहते हुए उन्हें देख लेने की बात कही। दोनों तरफ से आरोप-प्रत्यारोप लगते रहे।

अपराह्न करीब तीन बजे प्रधानपति अपने बेटे के साथ स्थानीय थाने पर पहुंचे और विधायक के खिलाफ धमकाने संबंधी तहरीर देते हुए मुकदमा दर्ज करने के साथ ही सुरक्षाकर्मी मुहैया कराने की मांग की। वहां से पुलिस आफिस पहुंचे लेकिन एसपी के शहर से बाहर रहने के चलते मुलाकात नहीं हो पाई। फिलहाल ऑडियो के वायरल होने के बाद से जिले के सियासी और प्रशासनिक हल्के में हड़कंप मचा हुआ है।

बस्‍ती से जुड़ी खबरों को देखने के लिए निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिए:-

बस्‍ती, इज्‍जत बहुत सस्‍ती