Meri Bitiya

Friday, Apr 03rd

Last update02:57:01 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

सक्सेस सांग

शाबास बेवर्ली सिंह, हमें तुम पर गर्व है

विश्व की सबसे तेज कार बनाने वाली शामिल है बेवर्ली

दक्षिण अफ्रीका : भारतीय मूल की दक्षिण अफ्रीकी इंजीनियर बेवर्ली सिंह को विश्व की सबसे तेज कार ‘ब्लडहाउंड’  का निर्माण करने वाले दल में शामिल किया गया. 29 वर्षीया मेकेनिकल इंजीनियर बेवर्ली सिंह द्वारा ब्रिटिश सरकार की इंजीनियरिंग प्रशिक्षण कार्यक्रम ब्लडहाउंड एसएससी परियोजना में शामिल होना है.

युवाओं को इंजीनियरिंग के पेशे की तरफ आकर्षित करने और प्रोत्साहन देने हेतु ‘ब्लडहाउंड एसएससी परियोजना’ को शुरू किया गया. रॉकेट शक्ति से लैस विश्व की सबसे तेज कार वर्ष 2016 तक बनकर तैयार हो सकती है, जिसकी रफ्तार 1600 किलोमीटर प्रतिघंटा होनी है. इसकी रफ्तार मौजूदा समय की सबसे तेज रफ्तार कार से 400 किलोमीटर प्रति घंटा अधिक होनी है. ब्रिटेन में ब्रिस्टल के पास करीब 30 इंजीनियर सुपरसोनिक कार (ध्वनि की रफ्तार से अधिक) बनाने में जुटे हैं.

बेवर्ली सिंह ने वेस्ट ऑफ इंग्लैंड विश्वविद्यालय से मेकेनिकल इंजीनियरिंग में परास्नातक डिग्री ली.  वह बल्डहाउंड चेवेनिंग स्कॉलरशिप की विजेता रही हैं. बेवर्ली सिंह ने पोर्ट एलिजाबेथ से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की.  इस परियोजना के तहत उनके द्वारा बोइंग और रोल्स रॉयस जैसे कंपनियों के इंजीनियरों के साथ काम किया जाना है.

सऊदी अरब में घरेलू हिंसा अपराध घोषित

पहले निजी घटना माने जाते रहे ऐसे हादसे

रियाद : सऊदी अरब ने एक ऐतिहासिक कदम उठाते हुए एक कानून पारित कर घरेलू हिंसा को अपराध घोषित कर दिया है. सऊदी मंत्रिमंडल ने सोमवार को कानून पारित किया था.

द अरब न्यूज ने मंगलवार को एक रपट में कहा कि इस कानून के तहत घरेलू अपराध के शिकार पीड़ित को आश्रय और उपचार की सुविधा भी मिलेगी. इससे पहले पुलिस महिलाओं और बच्चों के खिलाफ होने वाले अपराधों को एक निजी घरेलू मामले के रूप लेती थी.

मंत्रिमंडल के बयान में कहा गया कि सभी नागरिक या सैन्य कर्मचारी और निजी क्षेत्र के सभी कर्मचारी यदि कार्यस्थल पर पीड़ित होते हैं तो अपने मालिक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा सकते हैं.

मगरमच्छ ने चबाया, पर 3 को बचा ले गयी बहादुर बेटी

रायपुर में मौत से जूझती रही महिला, हालत गंभीर

रायपुर : राजधानी से 65 किलोमीटर बेमेतरा में सोमवार को सुबह 11 बजे महिला को मगरमच्छ का निवाला बनने से तीन महिलाओं ने बचा लिया। मगरमच्छ ने महिला के पांव पर अपने दांत गाड़ दिए थे। वहां मौजूद महिलाओं ने अद्भुत साहस दिखाया। भारीभरकम मगरमच्छ को देखकर वे जरा भी नहीं हड़बड़ाईं। उन्होंने महिला का हाथ पकड़कर खींचा। मगरमच्छ के मुंह से पांव छूटे, लेकिन उसने फिर दूसरे हिस्से में दांत गड़ा दिए। फिर भी महिलाएं विचलित नहीं हुईं और उसका हाथ नहीं छोड़ा। आखिरकार मगरमच्छ को वहां से भागना पड़ा। बाद में घायल महिला को इलाज के लिए रायपुर के आंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घायल महिला कुमारी सारथी की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। बेमेतरा से पांच किलोमीटर दूर ग्राम बावा मोहतरा में कुमारी बाई सुबह करीब 11.30 बजे नहाने के लिए तालाब में उतरी। तट पर मौजूद मगरमच्छ ने कुमारी बाई के दाएं पैर को पकड़ लिया। उसने बचाने के लिए आवाज लगाई। आसपास नहा रही महिलाओं सुगन साहू, सौहद्रा बाई और एक अन्य महिला ने कुमारी बाई के हाथ को पकड़ खींचने की कोशिश की, लेकिन वह बाहर नहीं आ रही थी। महिलाओं ने तालाब में फटी मच्छरदानी को फेंका ताकि मगरमच्छ घबराए। ऐसा करने से मगरमच्छ कुछ पल के लिए चौंक गया, उसने दाएं पैर को छोड़कर बाएं पैर को जकड़ लिया। इसके बाद भी ने हिम्मत नहीं हारी। आखिरकार महिलाओं ने उसे तालाब से बाहर निकाल लिया।

केवल एक नर मगरमच्छ जीवित : ग्रामीणों के अनुसार यहां पहले 5-6 नर व मादा मगरमच्छ थे। कई बार तालाब में मगर के अंडे भी देखे गए। बाद में एक-एक कर मर गए। कुछ को मगरमच्छ ही खा गए। अभी सिर्फ एक ही मगरमच्छ जीवित है।

करीब 30-40 साल पहले मगरमच्छ तालाब से निकल कर दो किलोमीटर दूर ग्राम बहेरा के खेत में पहुंच गया था। गांव वालों ने उसे पकड़कर तालाब में छोड़ा था। उस दौरान मगरमच्छ का पूंछ लगने से रति बाजीगीर घायल हो गया और 6 माह बाद उसकी मौत हो गई। रघुनंदन साहू ने बताया कि तालाब के पास पुलिया में दो माह पहले मगरमच्छ का मुंह फंस गया था। बाद में लोगों ने निकालकर उसे तालाब में छोड़ा। (भास्कर)

शारीरिक संबंध से इनकार किया तो पत्नी की हत्या

कुछ ही दिन पहले हुआ था पत्नी का एक बड़ा ऑपरेशन

सोहना : मंगलवार देर रात गांव जखोपूर में अपनी पत्नी की हत्या करने वाले आरोपी को सोहना पुलिस ने गुरुवार दोपहर गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी सामान्य अस्पताल में इलाज कराने के लिए आया था। आरोपी ने बताया कि शारीरिक संबंध बनाने से इनकार करने पर उसने पत्नी की हत्या कर दी।

पुलिस ने आरोपी को गुडगांव अदालत में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी राजेश अपने पांव की चोट का इलाज कराने सामान्य अस्पताल आया था। पुलिस ने जानकारी मिलते ही उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने बताया कि मंगलवार देर रात वह शराब पीकर घर आया था।

उसने पत्नी से शारीरिक संबंध बनाने का प्रयास किया। लेकिन उसने ऐसा करने से मना कर दिया। बताया जा रहा है कि उसकी पत्नी का कुछ दिनों पूर्व ही ऑपरेशन हुआ था। ऐसे में डॉक्टरों की मनाही पर उसने ऐसा करने से इनकार किया था। नशे में राजेश ने उसके गर्दन पर चाकू रखकर डराने की कोशिश की। इस दौरान चाकू गले पर लगने से उसकी पत्नी की मौत हो गई। आरोपी राजेश के दो बच्चे हैं। वह खराद की दुकान पर काम करता

Page 19 of 45