Meri Bitiya

Thursday, Jun 21st

Last update12:38:55 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

अम्‍बेदकर भये धन्‍य, जनेऊ व दुग्‍ध-स्‍नान संस्‍कार सम्‍पन्‍न

: दलितों को बटोरने की कवायद में भाजपा विधायक व अध्‍यक्ष ने अम्‍बेदकर को दूध से नहला कर निहाल किया : महापुरुषों का सम्मान करना हिन्दू सनातन धर्म की परम्परा : भगवा कलर किसी विशेष जाति का नहीं, अग्नि शौर्य और वीरता का प्रतीक :

मेरी बिटिया संवाददाता

अम्‍बेदकर नगर : यूपी में अब जातीय समीकरण बदलने के लिए एक गजब नौटंकी शुरू हो गयी है। मकसद है प्रदेश में दलितों के वोटों की लपटी-झपटी। सपा बसपा के गठबंधन से घबराई भाजपा अब दलित वोटों को अपनी तरफ खींचने के लिए नए नए हथकंडे अपना रही है। टाण्डा भाजपा विधायक और पार्टी कार्यकर्ताओ ने डॉ भीम राव अम्बेडकर की प्रतिमा को दूध से नहला कर, मंत्रउच्‍चार के साथ तिलक लगा कर शुद्ध कर भगवा अंग वस्त्र पहनाया। वजह साफ है कि इन नेताओं को अपने क्षेत्र व पार्टी में अपनी मजबूती हासिल करने में निष्‍ठावान और नैतिकतावान कार्यकर्ताओं के बजाय, अब अपने लिए वोटों की जरूरत है, भले ही उसके लिए उन्‍हें कोई भी कीमत चुकानी पड़े।

मामला अम्बेडकरनगर के टांडा विधान सभा का है। यहां  की स्थानीय विधायक संजू देवी व कार्यकर्ताओं ने पिछली शनिवार की दोपहर एक ऐसी नौटंकी का आयोजन किया, जिसको सुन-देख कर लोग ठहाके लगाते दिख रहे हैं। इन नेताओं ने अपने इस अभियान में डॉ भीम राव अम्‍बेदकर को निशाना बनाया है और उन्‍हें बाकायदा देवी-देवता की तरह पूजने की परम्‍परा शुरू कर दी है, जिसका विरोध जीवन भर अम्‍बेदकर करते ही रहे।

तो इस विधायक और उनके समर्थकों ने पुरोहित की मौजूदगी में बाकायदा हिन्दू रीति-रिवाज के अनुसार डॉ अम्बेडकर की प्रतिमा को मंत्रोच्चार के साथ साफ़ सफाई कर , दूध से नहला कर दुग्धाभिषेक किया और चन्दन टीका लगा कर, उनकी प्रतिमा पर भगवा अंग वस्त्र पहनाया। उन लोगों ने प्रतिमा पर दूध डाल कर प्रतिमा पर चढ़ी गंदगी को रगड़-रगड़ कर मसला और धोया। इस दौरान किसी देवता की प्रतिमा की तरह उनके बदन पर हल्‍की मालिश भी होती रही।

इस मौके पर भाजपा नगर अध्यक्ष ने बताया की डॉ अम्बेडकर ने दलितों और वंचितों के लिए बहुत कार्य किया है, दलितों में डॉ अम्बेडकर भगवान की तरह पूजे जाते है और हिन्दू सनातन धर्म की परम्परा रही है की महा पुरुषों का हमेशा सम्मान करती चली आ रही है। भगवा अंग वस्त्र पर उन्होंने कहा की भगवा कलर किसी विशेष जाति का नहीं बल्कि सबका है , भगवा अग्नि शौर्य और वीरता का प्रतीक है |

अम्‍बेदकर को नहलाने-धुलाने के कार्यक्रम का वीडियो देखने के लिए कृपया निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिए:-

धो-नहला कर अम्‍बेदकर चकाचक

Comments (0)Add Comment

Write comment

busy