Meri Bitiya

Thursday, Jun 21st

Last update12:38:55 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

पूर्व सांसद धनंजय सिंह: पेशबंदी है हमले की आशंका !

: बाहुबली धनंजय सिंह यूथ ब्रिगेड ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका कर्ता को तत्काल सुरक्षा देने की मांग : सवाल यह है कि यह ब्रिगेड है क्‍या, जिसे पुख्‍ता खबर है कि मुन्‍ना बजरंगी कर सकता है हत्‍या : याचिका के बाद कमांडो सुरक्षा हटी और दूसरी जमानत निरस्त होने की आशंका :

मेरी बिटिया संवाददाता

जौनपुर : बाहुबली धनंजय सिंह को मिली सरकारी उच्‍च सुरक्षा पर हाईकोर्ट ने सवाल क्‍या उठा दिया, एक तथाकथित ब्रिगेड ने भी अपने पंख पसारने शुरू कर दिये हैं। धनंजय सिंह यूथ ब्रिगेड नामक इस अनजाने तथाकथित संगठन के संस्थापक पिंकू सिंह को डर है कि सांसद हरिबंश सिंह और जेल में बन्द मुन्ना बजरंगी धनंजय सिंह की सुरक्षा सम्‍बन्‍धी याचिका दायर करने वाले प्रहलाद गुप्ता की हत्या करवा सकते हैं। उनकी आशंका है कि इस हत्‍या के सारे आरोप उनके पूर्व सासंद धनंजय सिंह पर थोपे जा सकते हैं।

एक स्‍थानीय न्‍यूज पोर्टल में छपी खबर के मुताबिक इस संगठन के संस्‍थापक ने माँग की है कि हाईकोर्ट में जनहित याचिका कर्ता प्रहलाद गुप्ता को प्रदेश सरकार और जौनपुर पुलिस अधीक्षक सुरक्षा प्रदान करे। उन्होंने कहा कि पूर्व सांसद धनंजय सिंह को फंसाने के लिये सरकार और उनके विपक्षी लोग कुछ भी कर सकते हैं।

आपको बता दें कि हाईकोर्ट में याचिकाकर्ता प्रहलाद गुप्ता ने रिट दायर करके कहा था कि पूर्व सांसद धनंजय सिंह पर हत्या के सात मामलों सहित कुल 24 मुकदमे चल रहे हैं। वाई श्रेणी की सुरक्षा मिलने के बाद भी उनके खिलाफ चार आपराधिक मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। ऐसे में आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्ति को वाई श्रेणी की कमांडो सुरक्षा देना सही नहीं है। पूर्व में हाईकोर्ट ने इस मामले में सुनवाई करते हुए केन्द्र व राज्य सरकार से सुरक्षा देने के कारणों व जमानत निरस्त करने की कार्रवाई पर रिपोर्ट मांगी थी। केन्द्र ने हाईकोर्ट के सामने अपना पक्ष रखते हुए वाई श्रेणी की सुरक्षा हटाने की बात कही। जबकि राज्य सरकार ने जमानत निरस्त करने की कार्रवाई शुरू करने की बात बतायी। इसके साथ ही कोर्ट ने जनहित याचिका को निस्तारित कर दिया है।

तहलका पोर्टल की खबर के मुताबिक हाईकोर्ट के आदेश से जौनपुर के पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह को तगड़ा झटका लगा है। एक तो कमांडो सुरक्षा हटायी गयी है, और दूसरी जमानत निरस्त होने पर जेल भी जाना पड़ सकता है। लोकसभा चुनाव 2019 का चुनाव लडऩे की तैयारी किये धनंजय के लिए अब आना वाला समय कठिन साबित हो सकता है। सुरक्षा व्यवस्था हटने का फायदा विरोधी बाहुबली भी उठा सकते हैं। यदि जमानत निरस्त हो जाती है और फिर जेल जाना पड़ता है तो बड़े राजनीतिक दल से टिकट मिलना भी कठिन हो जायेगा।

बीजेपी सरकार में हटायी गयी थी जेड श्रेणी की सुरक्षा, अब वाई श्रेणी भी हट गई। धनंजय सिंह पर AK-47 से हमला हुआ था उसके बाद उन्हें जेड श्रेणी की सुरक्षा मिली थी। इसके बाद बीजेपी सरकार आयी तो जेड श्रेणी की सुरक्षा हटा कर वाई कर दी गयी थी अब कोर्ट के आदेश के बाद वाई श्रेणी की भी सुरक्षा हट गयी है। हाईकोर्ट का यह आदेश ने बाहुबलियों के लिए भी फजीहत का सबब बन सकता है जिन पर अपराधिक मुकदमे दर्ज हो रहे हैं और सरकार से सुरक्षा व्यवस्था मिली हुई है।

Comments (0)Add Comment

Write comment

busy