Meri Bitiya

Tuesday, Sep 25th

Last update02:57:01 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

देवरिया का सपाइ जिला पंचायत अध्‍यक्ष फरार

: पुलिस ने किया गिरफ्तारी पर दस हजार रुपयों का ईनाम : जिला पंचायत अध्यक्ष है राम प्रवेश यादव, भाजपा में खोला सपा के खिलाफ मोर्चा : रामप्रवेश की मां और पत्नी को पुलिस ने हिरासत में रखा :

गौरव कुशवाहा
देवरिया :
अपहरण कर 10 करोड़ की संपत्ति का जबरन बैनामा कराने का मास्टरमाइंड 10 हजार का इनामी जिला पंचायत अध्यक्ष रामप्रवेश यादव अभी भी फरार चल रहा हैं। इस पूरे मामले में पुलिस ने अब तक जिला पंचायत अध्यक्ष की माँ मेवाती देवी पत्नी सीमा सिंह और गांव के एक व्यक्ति को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही हैं।अध्यक्ष के भाई समेत 4 लोगों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी हैं।
जिले में उप निबंधन कार्यालय और भूमाफिया के अवैध संबंध उजागर हुए हैं। फरार चल रहे सपा नेता व जिला पंचायत अध्यक्ष रामप्रवेश यादव उर्फ बबलू यादव ने अपने ऊची रसूख के चलते 10 करोड़ की संपत्ति का बैनामा महज 10 लाख के स्टांप पर करा लिया।बकाया लगभग 69 लाख के स्टांप बाद में लगाने की मंजूरी भी ले ली। बहरहाल स्टांप की कमी के कारण पंजीकरण अभी अधूरा हैं।वहीं मामले की गंभीरता देख सहायक आयुक्त स्टांप ने स्टांप एक्ट के तहत केस दर्ज कर दिया है।
पहचान गुप्त रखने के शर्त पर रजिस्ट्री आफिस एक कर्मचारी ने प्रमुख न्यूज़ पोर्टल मेरीबीटिया डॉट कॉम से बताया कि जिला पंचायत अध्यक्ष और रजिस्ट्री आफिस के जिम्मेदारों के मिली भगत के बिना ऐसा संभव ही नही है कि लगभग 80 लाख के स्टांप में सिर्फ दस लाख के स्टांप लगा के बैनामा करा लिया जाए।लेकिन इस मामले में उप निबन्धन कार्यालय द्वारा अध्यक्ष पर विशेष सुविधा उपलब्ध कराई गयी है।जो कार्यालय के उच्च अधिकारियों की सहभागिता के बिना संभव नही हैं।इस पूरे मामले में उप निबन्धन कार्यालय के अधिकारी भूमाफिया से मिले हुए हैं।
वही सहायक आयुक्त स्टांप ने बताया कि सब रजिस्ट्रार फूलचंद्र यादव और प्रभारी सब रजिस्ट्रार सोमनाथ रॉव से बैनामे में संलिप्तता पर स्पष्टीकरण मांगा गया हैं।साथ ही रिपोर्ट प्रमुख सचिव को भेज दी गई हैं।
दूसरी ओर पुलिस ने जिला पंचायत अध्यक्ष के करीबी चार जिला पंचायत सदस्यों को अपने रडार पर ले लिया हैं।जिनकी पूरी गतिविधियों पर पुलिस की नजर हैं।वही सूत्रों का दावा है कि जिला पंचायत अध्यक्ष रामप्रवेश यादव के राहत एवं बचाव कार्य मे सत्ताधारी दल के दिग्गज नेता एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं।पत्रकारिता के मुखबिरों का कहना है कि जिला पंचायत अध्यक्ष रामप्रवेश यादव भाजपा के किसी दिग्गज नेता के संरक्षण में हैं।
शनिवार को क्राइम ब्रांच और कोतवाली पुलिस ने उप निबन्धन कार्यलय में छापेमारी कर सब रजिस्ट्रार फूलचंद यादव समेत चार लोगों को हिरासत में ले लिया हैं।जिनसे कोतवाली पहुंच एसपी रोहन पी कनय ने घण्टों पूछताछ की।इस पूरे मामले पर जिले के एक वरिष्ठ पत्रकार का कहना है कि सत्ता दल के कुछ दिग्गज नेता एसपी रोहन पी कनय के जांच को प्रभावित करने में लगे हैं।अगर इस मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाय तो निबन्धन कार्यलय के अधिकारियों कर्मचारियों के साथ जिला पंचायत अध्यक्ष के मिलीभगत उजागर हो जायेंगे।

Comments (0)Add Comment

Write comment

busy