Meri Bitiya

Friday, May 25th

Last update01:45:24 AM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

भाजपा नेता ने बताया बहराइच को पाकिस्‍तान, कप्‍तान को लंगोट का ढीला

: बहराइच के नानपारा से भाजपा विधायक के पति ने पार कर दी मर्यादाओं की सारी सीमाएं, लगाये अनर्गल संगीन आरोप : कई आपराधिक मामलों में सजायाफ्त है पूर्व विधायक दिलीप वर्मा, अब बीवी को विधायक बनाया : साहसी कप्‍तान जुगल किशोर का चरित्र व छवि साफ-सुथरी और पुलिस विभाग में अनुकरणीय :

कुमार सौवीर

लखनऊ : बहराइच को अपनी जागीर मानने वाली भाजपा विधायक और उनके प्रतिनिधि और पति की निगाह में नानपारा एक मिनी पाकिस्‍तान है। जहां देश-विरोधी गतिविधियां खुलेआम संचालित होती हैं। इतना ही नहीं, इस पाकिस्‍तान को बनाये रखने के लिए प्रशासन के लोग कमर कसे रहते हैं। खास कर जिले के पुलिस अधीक्षक जुगुल किशोर तिवारी। यह कप्‍तान लंगोट का कच्‍चा है, और एक महिला सिपाही को अपना सीयूजी मोबाइल थमा कर बेडरूम में घुसा रहता है।

यह आरोप है उस भाजपाई नेता को, जो खुद ही एक सजायाफ्ता अपराधी है। यह पहले विधायक था, लेकिन सर्वोच्‍च न्‍यायालय के प्राविधानों के मुताबिक सजा मिलने के बाद चूंकि चुनाव लड़ने के लिए अयोग्‍य हो गया तो अपनी पत्‍नी को चुनाव लड़ा दिया। बीवी जब विधायक बन गयी, तो वह खुद ही अपनी पत्‍नी का प्रतिनिधि की कुर्सी पर बैठ गया। लेकिन उसकी हरकतें आज भी आपराधिक ही हैं। लेकिन अपनी ऐसी हरकतों को जायज ठहराने के लिए वह कभी तो साम्‍प्रदायिक माहौल बनाने पर आमादा होता है, तो कभी संवेदनशील प्रशासनिक अधिकारियों पर बेहद आपत्तिजनक और संज्ञेय आरोप लगाने तक में नहीं हिचकता। फिलहाल तो बहराइच में इसने खासा हंगामा खड़ा कर दिया है।

इस शख्‍स का नाम है दिलीप वर्मा। उसकी पत्‍नी का नाम है माधुरी वर्मा, जो नानपारा विधानसभा से भाजपा की विधायक हैं। कुछ समय पहले डिगिहा दोनक्‍का में दिलीप वर्मा ने एक दलित सिपाही को पीट दिया था। यह हादसा तब हुआ जब कुछ गन्‍ना किसान अपने ट्रक को लेकर चीनी मिल लेकर जा रहा था। उस समय ट्रैफिक दुर्व्‍यवस्‍था को दुरूस्‍त करने में जुटे इस सिपाही ने जब गन्‍ना गाडि़यों को रोकने की कोशिश की थी। दिलीप वर्मा ने आरोप लगाया था कि वह सिपाही अवैध उगाही कर रहा था, और इसी आरोप पर दिलीप ने उस सिपाही को बुरी तरह पीट दिया था। दिलीप वर्मा का आरोप था कि गन्‍ना लेकर जाने वाले किसानों को उगाही के लिए पुलिसवाले गन्‍ना गाडि़यों को रोकने की साजिश करते हैं। इसके साथ ही साथ कई अन्‍य अपराधों में भी दिलीप को सजा हो चुकी है।

बहराइच की खबरों को देखने के लिए कृपया निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिएगा:-

भरों की बहराइच

अब जरा अभी दो दिन पहले इस दिलीप वर्मा की हरकतों पर निगाह डालिये। उस दिन भाजपा विधायक माधुरी वर्मा के पति दिलीप वर्मा अपने दर्जनों साथियों के साथ नानपारा चीनी मिल में पहुंचे और जमकर हंगामा किया। दिलीप वर्मा का आरोप था कि चीनी मिल में किसानों के गन्ने की तौलाई में बेईमानी की जा रही है। इसी बात पर दिलीप वर्मा मिल में जबरन घुसने लगे। वहां मौजूद मिल के मुख्‍य सुरक्षा अधिकारी ने जब दिलीप वर्मा और उसके साथियों को रोकने की कोशिश की, तो दिलीन ने खुद ही एक सुरक्षाकर्मी की लाठी छीन कर मिल के कर्मचारियों को पीटना शुरू कर दिया। कर्मचारियों ने दिलीप वर्मा को रोकने की जब कोशिश की दिलीप वर्मा ने मुख्‍य सिक्योरिटी अफसर पर भी कहर तोड़ा। आरोप है दिलीप वर्मा ने मिलकर सिक्योरिटी अफसर ही नहीं, वहां मौजूद कई अधिकारियों पर भी जानलेवा हमला किया है।

लेकिन हैरत की बात है कि इस घटना के बाद प्रशासन खुद ही बैकफुट पर आ गया। पुलिस अधीक्षक ने यहां के पुलिस क्षेत्राधिकारी को नानपारा से हटा लिया। डीएम ने भी एसडीएम को भी रिलीव कर दिया, वैसे भी एसडीएम का पहले ही तबादला हो चुका था। मगर इससे मामला निपटाने के बजाय दिलीप वर्मा ने प्रशासन और खास कर पुलिस अधीक्षक पर ही हमला बोल दिया। आइये, इस वीडियो को देखिये कि उस हादसे के बाद दिलीप वर्मा ने किस तरह बहराइच में सांप्रदायिक आग को भड़काने की कोशिश की, और पुलिस प्रशासन की खिल्‍ली उड़ाते हुए कप्‍तान तक को नंगा करने की नापाक कोशिश की। आरोप लगाया कि नानपारा अब मिनी पाकिस्‍तान बन चुका है, और कप्‍तान चरित्रहीन है, जो महिला पुलिस सिपाहियों के साथ अपने बेडरूम में सीयूजी फोन लेकर घुसा रहता है।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के प्रांतीय पुलिस अधिकारी एसोसिएशन के अध्यक्ष रह चुके जुगल किशोर तिवारी के चरित्र और उनकी छवि हमेशा से ही साफ-सुथरी और पुलिस विभाग में अनुकरणीय रही है। इतना ही नहीं, सरकारी दायित्‍वों के निष्‍पादन के दौरान जुगल किशोर के अदम्‍य साहस और सूझबूझ की मिसाल दी जाती है। आज से 9 साल पहले चित्रकूट के राजेपुर गांव में घनश्याम केवट नामक एक कुख्यात और दुर्दांत डकैत के साथ करीब 52 घंटे तक चली पुलिस की मुठभेड़ में जुगल किशोर तिवारी ने जिस साहस का प्रदर्शन किया था, उससे लोग दंग रह गये थे। इस मुठभेड़ में आखिरकार घनश्याम डाकू मारा गया था। लेकिन साथ ही साथ एक आईजी, एक डीआईजी समेत कई अन्य पुलिस वालों को भी गंभीर छोटें आई थीं। घायलों को हेलीकॉप्‍टर से लखनऊ और दिल्‍ली रवाना गया था। इस हादसे में कई पुलिसवाले शहीद भी हुए थे।

अब जरा देखिये दिलीप वर्मा के बयान के वीडियो को, जिस पर दिलीप ने बेहद संगीन आरोप लगाये हैं। इस वीडियो को देखने के लिए कृपया निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिएगा:-

किस्‍सा गुण्‍डागर्दी और ढीली लंगोट का

Comments (0)Add Comment

Write comment

busy