Meri Bitiya

Saturday, Aug 08th

Last update02:57:01 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

पूरी सरकार की मां-बहन तौल दिया इस सरकारी डॉक्‍टर ने

: देवरिया के सलेमपुर पीएचसी में अचानक भड़के सर्जन ने मरीजों को भद्दी गालियों से नवाजा : स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री तो दूर योगी तक मेरा कुछ नहीं उखाड़ सकते : एक दबंग पत्रकार के जीजा हैं यह सरकारी डॉक्‍टर, रूआब बेहिसाब : एसडीएम ने वीडियो देख कर पूरा हादसा शर्मनाक बताया :

गौरव कुशवाहा

देवरिया : जिले में अजब गजब के कारनामें देखने को मिल रहे हैं। ऐसा ही एक मामला जिले के सलेमपुर संसदीय क्षेत्र स्थित सीएचसी पर हुई है। यहाँ तैनात सर्जन ब्रजेन्द्र कुमार मिश्रा पर मरीज के परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप क्या लगा दिया। डॉक्टर साहब ये भूल गये कि उनका पेशा एक डॉक्टर का हैं, गुण्‍डे-मवालियों की तरह सरेआम गालियां देना नहीं। हॉस्पिटल में ही सर्जन वी के मिश्रा ने मरीज के परिजनों को जी भर कर मा बहन की गालिया दी और कुछ उखाड़ लेने की धमकी दे डाली। एक मरीज के तीमारदार ने इस सर्जन की बदतमीजी का वीडियो बनाया है, जिसमें वह सर्जन मरीजों को बेहिसाब गालियां देते हुए दिख रहा है। बहरहाल, शिकायत पर एसडीएम ने वीडियो को देखा, और बताया कि यह शर्मनाक हादसा है, इसलिए इस पर कार्रवाई होना आवश्‍यक है।

घटना के अनुसार मझवलिया निवासी चंदन यादव सोमवार की रात गांव के आशीष को पेट मे दर्द होने पर उसे लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सलेमपुर गया था। लेकिन उस समय इमरजेंसी में किसी डॉक्टर के मौजूद ना होने पर वार्ड बॉय ने अस्पताल में तैनात सर्जन ब्रजेश कुमार मिश्र को इलाज के लिए बुलाया। जिससे डॉक्टर आगबबूला हो गए। वही चंदन यादव का आरोप है कि सर्जन ब्रजेश कुमार मिश्र ने वार्ड में आते ही मरीज और उसके साथ आये लोगों को गंदी भद्दी गालियां देने लगे और मरीज का ईलाज ना करने से मना कर दिया। जिससे चिकित्सा विभाग में हड़कम्प सा मचा हैं।

देवरिया से जुड़ी खबरों को देखने के लिए निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिए:-देवारण्‍य

वीडियो में सर्जन ईलाज ना करने की धमकियों के साथ गंदी भद्दी गालियां देते नजर आ रहे हैं। हैरत होती है कि एक तरफ सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश को रामराज्य की संज्ञा देने में लगे हैं।और दूसरी ओर ब्रजेश मिश्रा जैसे डॉक्टर योगी के रामराज्य के सपने पर पूरी ताकत से कालिख पोतने का कार्य कर रहे हैं।

वही सूत्रों ने दावा किया है कि डाक्टर वी के मिश्रा के रिश्तेदार जिले के वरिष्ठ पत्रकार त्रिपुरेश पति त्रिपाठी के रिश्ते में जीजा लगते हैं। इसी वजह से ये डॉक्टर अपनी मनमानी करने से बाज नही आता और अपना धौस जमाये रखता हैं। यहां सवाल ये है उठता है कि डॉक्टरों को भगवान माना जाता हैं लेकीन ब्रजेन्द्र मिश्रा जैसे डॉक्टरों को क्या समझा जाये?क्या रामराज्य में ऐसे डॉक्टरों का होना जायज हैं?

इस संबंध में सलेमपुर एसडीएम शशिभूषण ने कहा है कि शिकायत पर उन्होंने वीडियो देखा हैं।एक डॉक्टर द्वारा ऐसा कृत्य शर्मनाक हैं। मामले की जांच कर सम्बंधित चिकित्सक के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। वहीं सूत्रों से खबर हैं कि अंधाधुन गालियां देने वाले डॉक्टर की पैरवी में सत्ताधारी दल के कुछ लोग लग गए है।

पत्रकारिता से जुड़ी खबरों को देखने के लिए निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिए:-

पत्रकार पत्रकारिता

Comments (0)Add Comment

Write comment

busy