Meri Bitiya

Friday, Apr 03rd

Last update02:57:01 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

पत्रकार समिति के चुनाव में भारी उगाही, शिकायत दर्ज

: अध्‍यक्ष के पद के लिए चुनाव लड़ रहे एक प्रत्‍याशी पर लगा गम्‍भीर आरोप, फिलहाल नाम का खुलासा नहीं : एक लाख रूपयों की मांग, धमकी दी कि बड़े से बड़े नेता-फनेता तक का प्रेस-कांफ्रेंस खारिज करा देंगे : एक वरिष्‍ठ पत्रकार ने चुनाव अधिकारियों से की इस बारे में शिकायत :

मेरी बिटिया संवाददाता

लखनऊ : पत्रकार जब भी अपने बिरादरी के चेहरे पर लगे दाग-धब्‍बों को साफ करने की गम्‍भीर कोशिशें शुरू करते हैं, कुछ न कुछ ऐसा हो ही जाता है कि सारी कवायदें ही धूल चाट जाती हैं। उप्र राज्‍य मुख्‍यालय मान्‍यताप्राप्‍त संवाददाता समिति के चुनाव में भी यही सब गंदा धंधा की शिकायत आयी है। पता चला है कि समिति के चुनाव में बड़े ओहदों पर अपनी किस्‍मत आजमा रहे कुछ प्रत्‍याशियों ने अपने चुनाव के नाम पर नेताओं से भारी उगाही का धंधा शुरू कर दिया है। फिलहाल, इस मामले की शिकायत समिति की चुनाव नियंत्रण समिति में दर्ज हो गयी है।

लेकिन कुछ भी हो, यह तो बेहद शर्मनाक हरकत चल रही है पत्रकारिता के नाम पर। अभी हमारे साथी राजेन्द्र द्विवेदी ने एक हादसे का जिक्र किया जिसमें कतिपय प्रत्याशी पत्रकार चुनाव आदि के नाम पर भारी उगाही करने का षड्यंत्र कर रहे हैं। राजेन्द्र द्विवेदी ने ऐसी कुत्सित हरकतों की खबर चुनाव अधिकारियों तक भेज दी है।

राजेन्द्र द्विवेदी ने जो पत्र चुनाव अधिकारियों को भेजा है, वह निम्नवत है:- माननीय मुख्य निर्वाचन अधिकारी, लखनऊ। महोदय, मान्यता समिति के चुनाव में कुछ प्रत्याशियों के द्वारा चुनाव के नाम पर कई लोगों से पैसे की मांग की जा रही है। इस संबंध में व्यक्तिगत स्तर पर कई लोगों ने मुझसे यह जानकारी भी चाही कि मान्यता समिति क्या है? क्या इस चुनाव में लाखों रुपये खर्च होते है। अध्यक्ष पद के एक प्रत्याशी का नाम लेकर बताया कि अमुख प्रत्याशी मुझसे चुनाव के लिए एक लाख रुपये की मांग कर रहा था। पैसा मांगने वाले पत्रकार ने यह भी बताया कि अगर मैं अध्यक्ष चुन लिया गया तो मुख्यमंत्री और सभी मंत्री बड़े-बड़े अधिकारी की प्रेसवार्ता मेरे अनुमति से ही होगी। अगर मैं अनुमति नहीं दूंगा तो सीएम भी प्रेस कांफ्रेस नहीं कर पाएंगे। उन्होंने बताया कि मान्यता समिति का अध्यक्ष पूरे प्रदेश के हजारों पत्रकारों का नेता होता है। अध्यक्ष प्रत्याशी ने यह भी बताया कि उसकी जीत सुनिश्चित है। अपनी जीत के पक्ष में पत्रकारों की मतदाता सूची भी दिखाया और बताया कि चैनल के सभी साथी मेरे साथ है। प्रिंट और उर्दू, अंग्रेजी पत्रकार भी साथ है। अब तक चार बार फोन करके पैसे की मांग कर चुके है। इसी तरह और बहुत सारी बातें बताई जिसे पत्रकारों के सम्मान में लिखना उचित नहीं है।

आपसे यह अनुरोध है कि निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए चुनाव खर्चे का भी एक निश्चित बजट निर्धारित किया जाना चाहिए। गाड़ियों के काफिले व अन्य मदों में हजारों रुपये खर्च करने वाले प्रत्याशियों पर कार्रवाई करने का प्राविधान चुनाव में होना चाहिए। भविष्य में जब भी चुनाव हो तो प्रत्याशियों को कम से कम अपनी आय-व्यय एवं आपराधिक  रिकॉर्ड के उल्लेख का प्रावधान नामांकन पत्र में अवश्य होना चाहिए। जिससे पत्रकारों की गरिमा बनी रहे। मेरा यह अनुरोध है कि चुनाव अधिकारी के स्तर से यह घोषण कर दी जाए कि अगर चुनाव के नाम पर कोई प्रत्याशी वसूली करते साक्ष्य के साथ पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। चुनाव कोई भी जीते हारे लेकिन मीडिया की गरिमा को बनाए रखना चाहिए।

चुनाव अधिकारी से यह उम्मीद है कि चुनाव की पवित्रता बनाए रखने के लिए प्रत्याशियों की एक मीटिंग करके उनसे यह जरूर अनुरोध करेंगे कि चुनाव के नाम पर वसूली ना करें।

राजेंद्र द्विवेदी की इस शिकायत का खुलासा होने पर मेरी बिटिया डॉट कॉम के संस्‍थापक संपादक और उप्र राज्‍य मुख्‍यालय मान्‍यताप्राप्‍त संवाददाता समिति के चुनाव में सचिव के पद पर प्रत्‍याशी कुमार सौवीर ने राजेन्द्र द्विवेदी से अपेक्षा की है कि वे इस मामले के उन सभी पहलुओं का खुलासा करें, जिससे दागी पत्रकारों का पर्दाफाश किया जा सके। कुमार सौवीर ने लिखा है कि,"

राजेन्द्र द्विवेदी जी!

फिर तो आपसे अपेक्षा है कि आप ऐसे लोगों के नाम फौरन सार्वजनिक कर दें. जो पत्रकारिता के चेहरे पर कालिख पोतने का षड्यंत्र कर रहे हैं।

आप को ऐसी हरकत करने वालों के बारे में जो भी सूचना है, वह सभी साथियों में वितरित कर दें। तत्काल ।

दूध का दूध और पानी का पानी अपने आप ही तय कर देंगे हमारे सभी सम्मानित पत्रकार साथीगण।

निवेदक:-

कुमार सौवीर

सचिव पद के प्रत्याशी।

Comments (0)Add Comment

Write comment

busy