Meri Bitiya

Friday, Apr 03rd

Last update02:57:01 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

भीड़ ने प्रेमी युगल को नंगा कर पीटा, जुलूस निकाला

: हिन्‍दुत्‍व के नाम पर आपने राजसत्‍ता तो बटोर ली है। लेकिन कौन सा राज-धर्म स्‍थापित कर रहे : घंटों तक चलता रहा हंगामा, राजदंड की प्रतीक पुलिस नहीं दिखी : आपकी नीतियों से उपजी घृणा से निकलती हैं ऐसी घटनाएं, जो समाज और आपके ढांचों तक को नेस्‍तनाबूत करेगी :

कुमार सौवीर

लखनऊ : आपको अगर दिल दहलाने वाले वीडियो से देखने से डर लगता हो, तो आपको चाहिए कि आप उस वीडियो को कत्‍तई न देखें।

यह वीडियो एक ऐसे हादसे से उपजा था, जिसकी शुरूआत तो प्रेम से हुई थी, लेकिन जैसे ही समाज को पता चला, उसकी बात का बतंगड़ कुछ ऐसा बना डाला कि लोगों को अपने इंसान होने से शर्म आने लगे। नंगे युवक और युवती का जुलूस निकाला गया और उन्‍हें खूब पीटा गया। लेकिन इस पूरे दौरान एक भी किसी भी व्‍यक्ति में उन युवती-युवक में अपने बहन या बेटी खोजने की कोशिश नहीं की। जुलूस में शामिल हर शख्‍स उसमें केवल अपने सेक्‍स-विद्रूप और विक्षिप्‍त भाव के साथ पागलों की तरह जयजयकारा लगाता दिखा। पुलिस नदारत।

हमारे एक समाजवादी चिंतक मित्र हैं सूर्य कुमार। उन्‍होंने ही मुझे यह वीडियो भेजा। हालांकि उस वीडियो में इस बात का खुलासा नहीं हो पा रहा है कि यह हादसा कहां का है, लेकिन वीडियो में चल रही हरकतें और बातचीत के अंदाज से साफ पता चल रहा है कि यह घटना पूर्वांचल अथवा किसी आसपास से जुड़े हिन्‍दी भाषा-भाषी इलाके की है। अंदाजा लगाया जा सकता है कि एक प्रेमी-प्रेमिका को गांववालों ने पकड़ा होगा, और फिर उस युवती और उस युवक को सार्वजनिक रूप से बुरी तरह पीटा, उसे नंगा किया और फिर उनका बाकायदा जुलूस निकाला।

शर्मनाक बात यह रही कि दर्जनों गांववाले इस जुलूस में शामिल रहे, बाकायदा ढोल-ताशे बजाये गये। पहले तो नंग युवक के कांधे पर नंगी लड़की को बिठा कर उसका जुलूस निकाला। उस पूरे दौरान गांववालों ने उस युवक और युवती को लगातार पीटा। जब पिटाई से बेदम हो चुका युवक जमीन पर गिर गया, तो उस लड़की को बाध्‍य किया गया कि वह अपने कांधे पर उस घायल युवक को पैदल चलाये। लेकिन पिटाई का दौर तब भी चलता ही रहा। और वह घायल युवती चंद कदमों के बाद ही ढह गयी। और तब भी भीड़ का तरस नहीं आया, और उसके बाद भी वे उन दोनों को पीटते ही रहे।

वीडियो में इन दोनों का हाव-भाव इस तरह साफ दिख रहा है, मानो कि उनके साथ हुई भारी पिटाई के बाद उनमें जीने की हिम्‍मत ही टूट गयी। इतना टूट गयी, वह युवती कि उसे अहसास तक नहीं हो पा रहा था कि वह वाकई पूरी तरह नंगी है। बुरी तरह बदहवास हो चुकी है वह युवती कि उस पर उसके साथ हो रहे पाशविक हादसों तक का अहसास नहीं हो रहा। जो भी उससे कहा जा रहा है, वह बस कर रही है। बिना किसी हुज्‍जत के। पिटाई का अहसास तक उस पर नहीं हो रहा। ठीक यही हालत उसके साथी पुरूष की है। भीड़ इन पूरी तरह निर्वस्‍त्र-युगल के हर अंग-प्रत्‍यंग पर लात-घूंसे बरसा रही है, लोग लकड़ी और छड़ी तक से उसके नाजुक अंगों पर कोंच रहे हैं, पीट रहे हैं।

उफ्फ, इंसान क्‍या वाकई इतना निर्मम और क्रूर हो सकता है, यकीन तक नहीं आता है।

इस वीडियो की मियाद दो मिनट पचास सेकेंड की है। लेकिन जो पूरे दौरान हालात दिख रहे हैं, उससे साफ चल रहा है कि यह यह पूरा हादसा करीब तीन-चार घंटे तक लगातार चलता ही रहा। लेकिन उस पूरे दौरान कहीं भी राजसत्‍ता और राजदंड की प्रतीक मानी जाने वाली पुलिस नहीं दिखी। और तो और, गांव के बड़े बुजुर्ग और जिम्‍मेदार लोग भी या तो अपना मुंह काला कर छिप गये हैं, या फिर उस भीड़ को उसका रहे होंगे।

तो अब सवाल हमारे प्रधानमंत्री और मुख्‍यमंत्री से है कि हिन्‍दुत्‍व के नाम पर आपने राजसत्‍ता तो बटोर ली है। लेकिन आखिर आप कौन सा राज-धर्म स्‍थापित कर रहे हैं। क्‍या कारण है कि आपके आदर्श ऐसे मदांध भीड़ का चरित्र बनते जा रहे हैं। मैं मानता हूं कि ऐसे हादसे आपकी शह पर नहीं भड़के हैं। लेकिन आप इस तर्क को कैसे खारिज कर सकते हैं कि आपकी नीतियों से उपजी घृणा से निकलती हैं ऐसी घटनाएं, जो केवल समाज को ही नहीं, बल्कि समाज तो दूर, खुद आपको और आपके ढांचों तक को नेस्‍तनाबूत कर देती हैं।

इसीलिए मुझे तथाकथित धर्म और घिनौने जातिवाद से घृणा है।

यह वीडियो वाकई वीभत्‍स है। इतनी, कि मैं पूरी रात सो नहीं पाया। हालांकि उसके भयावह वीभत्‍स दृश्‍यों को ब्‍लर्क करने की कोशिश कर रहा हूं, ताकि आपको उसको काफी कुछ दिखाने की कोशिश की जा सके। मगर यह काफी श्रमसाध्‍य काम है। यकीन मानिये, कि जैसे ही यह वीडियो संशोधित हो पायेगा, हम उसे आप तक पहुंचा देंगे।


Comments (0)Add Comment

Write comment

busy