Meri Bitiya

Tuesday, Dec 10th

Last update02:57:01 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

छप्‍पर फाड़ कर खुशियां आयीं, या दर्देगम। जन्‍मे चार बच्‍चे एकसाथ

: अम्‍बेदकरनगर मेडिकल कालेज में हुआ अजबूबा, बिना चीरा-टांका के हुआ प्रसव : दुख यह कि इन नवजातों में बेटियां का प्रतिनिधित्‍व शून्‍य रहा : जच्‍चा और बच्‍चे पूरी तरह स्‍वस्‍थ, परिवार में हर्ष :

मेरी बिटिया डॉट कॉम संवाददाता

अम्‍बेदकरनगर : चार बच्चो को महिला ने दिया है जन्म। कहते है की जब ऊपर वाला मेहरबान होता तो! इतनी खुशियाँ आपकी झोली में डाल देता है। ख़ुशी का कही ठिकाना नहीं रहता।  एक ऐसा ही मामला सामने आया है महामाया राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कॉलेज सदरपुर में। . यहाँ पर भर्ती एक प्रसूता ने एक साथ चार बेटो को जन्म दिया है ।  वो भी बिना किसी चीरा-टाँका के।  जच्चा और बच्चा दोनों स्वास्थ्य है। . वही डॉक्टर माँ और उसके नवजात बेटो की सघन चेकअप में जुटे है।

फैज़ाबाद जिले के निवासी विजय ने यह कभी नहीं सोचा था कि उसके आगाँ में एक साथ चार-चार बच्चो की किलकारी गुंजेगी।  लेकिन भगवान् की महिला और डॉक्टरों की लगन ने आखिरकार विजय को वो खुशियाँ दे ही दिया।  विजय जिस समय फैज़ाबाद जिला अस्पताल में अपनी पत्नी आरती सोनी ( 23 वर्ष ) को प्रसव के दाखिल करवाया।  और तीन दिनों तक वहां के डॉक्टरों की लापरवाही और टाल-मटोल के रवैये उस समय परेशान हो गया।  जब उसके पत्नी की तबीयत ज्यादा खराब होनी लगी।

अम्‍बेदकरनगर की खबरों को पढ़ने के लिए निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिए:-

अम्‍बेदकरनगर

आर्थिक संकट से जूझ रहे विजय ने अपने ससुराल वालो के माध्यम से अपनी पत्नी आरती सोनी को राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कॉलेज सदरपुर में कल शाम को भर्ती करवाया।  खून की कमी से जूझ रही प्रसूता आरती के लिए यहाँ के डॉक्टर भगवान् बन गये।  और आनन्-फानन में पूरा कॉलेज प्रशासन आरती के ईलाज के लिए जुट गया।  बीती रात करीब 10 -11 बजे के बीच आरती ने बिना किसी ऑपरेशन के एक साथ चार बेटो को जब जन्म दिया तो डॉक्टर भी एक बार हैरत में पड़ गये।

वही जब इस बारे में गाइनी डिपार्मेंट की चीफ़ डॉक्टर उज़मा कौशर से बात की गई तो।  उन्होंने बताया कि ऐसे केस बहुत ही कम आते है। और ऐसे केस में जच्चा और बच्चा दोनों को काफी खतरा रहता है।  हमारे कॉलेज के डॉक्टरों के सहयोग से महिला का सुरक्षित प्रसव करा लिया गया।  फिलहाल सभी बच्चे और उसकी माँ कुशल है।  वही कॉलेज के चीफ प्रॉक्टर सुजीत राय ने इस कार्य के लिए डॉक्टरों की टीम को बधाई दिया।

डॉक्‍टरों से जुड़ी खबरों को देखने के लिए निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिए:-

भगवान धन्‍वन्तरि

अपने घर में चार-चार बच्चो के आने की ख़ुशी से विजय सोनी और उसकी पत्नी के खुशियों का ठिकाना नहीं है।  विजय का कहना है कि फैज़ाबाद जिला अस्पताल के डॉकटरो की लापरवाही से जब मेरी पत्नी की तबीयत जयादा खराब हो गई तो मैंने उसको यहाँ भर्ती करवाया। . और यहाँ के डॉक्टरों ने सही सलामत प्रसव करवाया। . मै यहाँ के ईलाज से काफी खुश हूँ।

Comments (0)Add Comment

Write comment

busy