Meri Bitiya

Wednesday, Dec 11th

Last update02:57:01 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

डीएम साहब तो वेरी फास्‍ट, स्‍टे के बावजूद 67 को थमा दी नौकरी

: सपा नेताओं के सगे-संबंधी तक ही कैसे सिमट गयी यह नौकरी की सेल : राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन की बत्‍ती गुल कर दिया अम्‍बेदकरनगर के जिलाधिकारी ने : मिशन के एमडी ने रोक दी थीं नियुक्तियां, आनन-फानन एक ही दिन साक्षात्‍कार निपटा लिया :

संवाददाता

अम्‍बेदकर नगर : जिले के स्वास्थ्य विभाग ने विभिन्न पदो पर संविदा पर हुई नियुक्ति को लेकर स्वास्थ्य महकमें पर जो फर्जीवाड़े के सवाल खड़े हो रहे थे  ... आज इन नियुक्तियों पर फिलहाल सीएमओ ने विभागीय एमडी ( एनएचएम ) के आदेश के बाद रोक लगा दिया है। लेकिन वही २४ मार्च से शुरू हुई ज्वाइनिंग प्रक्रिया कही-न-कही अभी भी सवालो के घेरे में है। सूत्र बताते हैं कि इन नियुक्तियों में सपा नेता जंगबहादुर यादव की पत्नी और सपा सरकार के पूर्व मंत्री राममूर्ति वर्मा के सगे-संबंधी भी शामिल है।

आपको बताते चले कि सपा सरकार में 22 नवंबर;16 को जिले के चिकित्सा विभाग में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन योजना के तहत विभिन्न पदों के लिए लगभग छः दर्जन रिक्तियां निकाली गयी थी। इसके लिए सीएमओ कार्यालय में 12 दिसंबर से 17 दिसंबर तक साक्षात्कार प्रक्रिया आयोजित की गयी थी। एक ही दिन में बड़ी संख्या में आवेदकों का साक्षात्कार लिये जाने से ही नियुक्ति प्रक्रिया पर सवाल उठने  लगे थे। परिणाम घोषित हो पाता, इसी बीच विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लागू हो गयी। परिणाम घोषित करने के लिए निर्वाचन आयोग से अनुमति मांगी गयी  लेकिन अनुमति न मिलने के कारण परिणाम नहीं घोषित हो सका।

इधर नई सरकार बनने की आहट से ही स्वास्थ्य महकमे में इन नियुक्तियों को लेकर तेजी शुरू हो गयी। नई सरकार इस संबंध में कोई निर्देश जारी कर पाती, इसी बीच आनन-फानन में गुरूवार यानि कि 23 मार्च को शाम5 बजे के बाद परिणाम घोषित कर दिया गया। मजे की बात यह है कि परिणाम घोषित होने के कुछ देर बाद से ही कार्यभार ग्रहण कराने की प्रक्रिया भी शुरू करा दी गयी। शुक्रवार 24 मार्च को कार्यभार ग्रहण करने के लिए मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय में भारी भीड़ लगी रही। जिसमे से सीएमओ ने 67 चयनित अभ्यर्थियों को 24 मार्च की शाम तक ज्वाइन करा दिया।

वही यदि विभागीय एमडी आलोक कुमार द्वारा प्रदेश के सभी सीएमओ को इन भर्तियों को रोके जाने के सम्बन्ध गये आदेश की तरफ गौर करे तो विभागीय ऑफीशियल ग्रुप पर एमडी आलोक कुमार ने यह आदेश 24 मार्च को ही दिन में 2 बजकर 41 मिनट पर प्रदेश के सभी सीएमओ को भेज था। लेकिन उसके बावजूद भी जिले के सीएमओ ने अपने विभागीय अधिकारी के आदेशो को नजर अंदाज कर 24 मार्च 2017 की रात तक 67 अभ्यर्थियों का चयन कर उन्हें ज्वाइन करा दिया।

आपको यह भी बता दे कि पूर्व की सपा सरकार के मंत्रियों के दबाव में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी इस सूची में सपा नेता जंगबहादुर यादव की पत्नी और सपा सरकार के पूर्व मंत्री राममूर्ति वर्मा के सगे-संबंधी भी शामिल है। वही जब इस बारे में सीएमओ मोहिब उल्‍लाह से पूछा गया तो उनका कहना है कि शासन से मिले निर्देश के आधार पर चयनित अभ्यर्थियों में से 67 अभ्यर्थियों को ज्वाइनिंग करा दिया गया। आगे की ज्वाइनिग को अग्रिम आदेश तक रोक दिया गया है।

सवाल यह है कि 23 मार्च की शाम 5 बजे के बाद नियुक्ति की जारी हुई इस सूची की सूचना आखिर किस माध्यम से चयनित अभ्यर्थियों को हुई ? जिसकी ज्वाइनिग करने के लिए 24 मार्च को लोग सुबह से ही सीएमओ दफ्तर आ पहुँचे। जबकि इस प्रकार की किसी भी ज्वाइनिग के सम्बन्ध किसी भी राष्ट्रीय समाचार पत्रो में कोई सूचना विभाग द्वारा गजट ही नहीं कराया गया था। वही दूसरा सवाल यह भी है कि 24 मार्च 2017 को दिन 2 बजकर 41 मिनट पर विभागीय एमडी द्वारा इन भर्तियों के लिए जारी किये गये आदेश के बावजूद आखिर सीएमओ ने कैसे और किसके दबाव में 67 अभ्यर्थियों को ज्वाइन करा दिया ? फिलहाल ये वे सवाल है जो इस भर्ती प्रक्रिया में को संदेह के घेरे में खड़ा कर रहे है। जिसका खुलासा जांच के बाद ही पता चल पायेगा।

अम्‍बेदकर नगर से जुड़ी खबरों को देखने के लिए कृपया निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिए:-

अम्‍बेदकर नगर

इस बारे में अम्‍बेदकर नगर के जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्‍तव से सम्‍पर्क करने पर जब फोन किया गया, तो उनका मोबाइल रिसीव ही नहीं हुआ।

(यह समाचार अम्‍बेदकर नगर के एक संवाददाता के पत्र के आधार पर है।)

(अब www.meribitiya.com की हर खबर को फौरन हासिल कीजिए अपनी फेसबुक पर। मेरी बिटिया डॉट कॉम का फेसबुक पेज पर पधारिये और सिर्फ एक क्लिक कीजिए LIKE पर)

(अपने आसपास पसरी-पसरती दलाली, अराजकता, लूट, भ्रष्‍टाचार, टांग-खिंचाई और किसी प्रतिभा की हत्‍या की साजिशें किसी भी शख्‍स के हृदय-मन-मस्तिष्‍क को विचलित कर सकती हैं। समाज में आपके आसपास होने वाली कोई भी सुखद या  घटना भी मेरी बिटिया डॉट कॉम की सुर्खिया बन सकती है। चाहे वह स्‍त्री सशक्तीकरण से जुड़ी हो, या फिर बच्‍चों अथवा वृद्धों से केंद्रित हो। हर शख्‍स बोलना चाहता है। लेकिन अधिकांश लोगों को पता तक नहीं होता है कि उसे अपनी प्रतिक्रिया कैसी, कहां और कितनी करनी चाहिए।

अब आप नि:श्चिंत हो जाइये। अब आपके पास है एक बेफिक्र रास्‍ता, नाम है प्रमुख न्‍यूज पोर्टल www.meribitiya.com। आइंदा आप अपनी सारी बातें हम www.meribitiya.com के साथ शेयर कीजिए न। ऐसी कोई घटना, हादसा, साजिश की भनक मिले, तो आप सीधे हमसे सम्‍पर्क कीजिए। आप नहीं चाहेंगे, तो हम आपकी पहचान छिपा लेंगे, आपका नाम-पता गुप्‍त रखेंगे। आप अपनी सारी बातें हमारे ईमेल   This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it पर विस्‍तार से भेज दें। आप चाहें तो हमारे मोबाइल 9415302520 पर भी हमें कभी भी बेहिचक फोन कर सकते हैं।)

Comments (0)Add Comment

Write comment

busy