Meri Bitiya

Tuesday, Dec 10th

Last update02:57:01 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

सेक्‍स पर मेनका गांधी का नजरिया समय, काल, परिस्थितियों में बदल जाता है

: कभी उसे अनाचार कह कर मेनका ने किया था आह-आह, वरूण बोला: वाह वाह । जिस सेक्‍स को दुराचार मानते हुए उसे नकार कर मेनका गांधी ने अपनी पत्रिका में फोटो छाप दी थी, वरूण उसी धंधे की काली कोठरी में रंगे दिख रहे :

चंचल भू-जी

वाराणसी : सेक्स बहुत गन्दी चीज है , इसके बावजूद आज हम डेढ़ सौ करोड़ तक पहुँच गये है। बच्चों को सेक्स की शिक्षा देना चाहिए, तर्कपूर्ण सहमति है। लेकिन सेक्स की ताकत देखिये और उसका अंतर्विरोध, जब तक गोपनीय है, ग्राह्य है, परम आनंद की पराकाष्ठा है, उघर गया तो आपको समूल नष्ट कर देगा। जो समाज इस अंतर्द्वंद पर खड़ा है, उसकी भ्रूण हत्या तय है।

एक वाक्या सुनिये। बाबू जगजीवन राम बहुत बड़ी शख्सियत थे, उनका बेटा सुरेश राम किसी होटल में अपनी महिला मित्र के साथ नग्न अवस्था में देखे गए। उसका फोटू हुआ, और सारे संपादकों के पास प्रकाशनार्थ भेज भी दिया गया लेकिन किसी ने भी नही छापा। सिवाय एक महिला संपादक के। पत्रिका का नाम था सुर्या और संपादक थी आज की भाजपा मंत्री मेनका गांधी।

आज इतिहास फिर पलटा खाया है। मेनका के सुपुत्र वरुण गांधी उसी तरह लपेटे में आये हैं जैसे सुरेश राम आये थे। फोटो कौन बाँट रहा है, सब को पता है। इतना ही नही आज वरुण पर आरोप लग रहा है कि वरुण इस फोटो के बदले देश की सारी गुप्त बाते आर्म्स डीलर को देते रहे। यानी वरुण देश द्रोही है। पी यम ओ के पास इसका खुलासा है। आपातकाल में मेनका गांधी की भूमिका का बदला इस तरह लिया जा रहा है। जो भी लोग अगल बगल से निकल कर गिरोह की तरफ भाग रहे हैं, एक दिन सब का यही हश्र होगा।

रीता जी @ आप भी ख़याल रखियेगा, आपके पिता जी ने संघ पर क्या बोला था, आप भूल चुकी होंगी लेकिन उसकी कसक नागपुर में बनी हुई है ।

वरुण गांधी की वह फोटो हमारे पास भी है, लेकिन सार्वजनिक नही करूँगा।

चंचल भूजी किसी व्‍यक्ति नहीं, बल्कि बहुआयामी व्‍यक्तित्‍व है। वह कब, क्‍या कैसे कितना कर सकते हैं, उन्‍हें खुद ही नहीं पता। सीधे बजरंग बली समझिये। लेकिन तब तक जब तक जार्ज फर्नांडीज और राजेश खन्‍ना और राजबब्‍बर की याद उन्‍हें याद आती रहे। फिलहाल तो बीएचयू से रंग पोतने की डिग्री लेकर अपने गांव में स्‍थाई बिराजमान हैं। हां, कुल्‍ला करने के लिए दिल्‍ली-मुम्‍बई चले जाते हैं। वरूण गांधी पर उनका व्‍याख्‍यान फेसबुक के रोजनामचे पर दर्ज

Comments (2)Add Comment
...
written by Ram Gopal , October 24, 2016
Namaste to the show and it was so much..
...
written by Ram Gopal , October 24, 2016
smilies/grin.gifsmilies/cry.gifsmilies/kiss.gif very sam samyik

Write comment

busy