Meri Bitiya

Sunday, Dec 15th

Last update02:57:01 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

तन्ख्वाह मांगी तो नौकरानी के बदन में कील ठोंक दी

कुवैत के शेख की नृशंस करतूत, नौ कीलें निकाली गयीं

वेतन मांगने पर नौकरानी के शरीर में कीलें ठोकीं: पेट्रो-डालर के घमंड में चूर कुवैती शेख की करतूत: श्रीलंका की नौकरानी पर नृशंस प्रताडना का आरोप: हाथ-पांव में ठोंक दी थीं चौदह कीलें: कुसूर सिर्फ इतना कि नौकरानी ने मांगी थी तनख्वाह: सीलोन पहुंची नौकरानी के बदन से डाक्टरों ने 9 कीलें निकालीं: पांच कीलें अभी भी फंसी हैं वीआर लक्ष्मी के बदन में:
श्रीलंका की गरीबी से निजात पाने के लिए अरब देशों में कमाई करने जाने वाली महिलाओं की त्रासदी कम होने का नाम नहीं ले रही है। लेकिन इसी के साथ ही इन गरीब महिलाओं के साथ अमानवीय खेल खेलने की अरबी नियति लगातार बढती ही जा रही है। ताजा मामला है श्रीलंका की वीआर लक्ष्मी नामक एक महिला की जिसके शरीर में वहां के एक शेख ने 14 कीलें ठोंक दीं। वहां इस शेख के यहां घरेलू नौकरानी का काम कर रही इस महिला का कुसूर केवल इतना ही था कि उसने अपनी तनख्वाह मांगने की जुर्रत की थी।

सउदी अरब में पेट्रो-डालर के घमंड में वहां के अमीर किसी कदर चूर हो चुके हैं कि उनमें इंसानियत का तो नाम ही नहीं बचा। अभी चार महीना पहले भी श्रीलंका की ही एक घरेलू नौकरनी के साथ भी उसके अरब शेख मालिक ने 23 कीलें ठोंक दी थीं। कुवैत में दो महीने काम करने के बाद श्रीलंका लौटी एक घरेलू नौकरानी ने अपने मालिक पर शरीर में 14 कीलें ठोकने का आरोप लगाया है। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।अस्पताल के निदेशक डॉक्टर एस राजमंत्री ने कहा कि महिला के एक्सण्रे में 14 कीलें दिखाई दे रही हैं। इनमें आठ कीलें दाहिने हाथ से और एक पैर से निकाल दी गई है। बाकी पांच को निकालने के लिए दूसरा ऑपरेशन किया जाएगा।पीड़ित महिला के मुताबिक कुवैती मालिक से वेतन मांगने पर उसने हाथ और बाएं पैर में कीलें ठोक दीं। चार महीने पहले दो बच्चों की मां 38 वर्षीया वीआर लक्ष्मी के साथ भी इसी तरह की घटना सामने आई थी। अगस्त में सऊदी अरब से श्रीलंका लौटी नौकरानी टी अरियावती के शरीर से भी डॉक्टरों ने 23 कीलें सफलतापूर्वक निकालीं थीं।
इस हादसे के बाद श्रीलंका सरकार ऐसे मामलों को अब अरब दूतावास के सामने उठाने की कवायद में जुट गयी है। सरकार की आरे से ऐसे प्रकरणों के जिम्मेदार शेखों पर कडी कार्रवाई करने के साथ ही प्रताडित लोगों को मुआवजा भी दिये जाने की बात कही जाएगी।

 

 

 

 

 

 

Comments (0)Add Comment

Write comment

busy