Meri Bitiya

Sunday, Dec 15th

Last update02:57:01 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

बलात्कार में असफल रहे तो बालिका को फूंक डाला

बुंदेलखंड में 10वीं की छात्रा को जिन्दा जला दिया

माया-राज में बालिकाओं पर जुलुम हुआ तेज: 95 फीसदी जल चुकी है ललितपुर की ज्योति सिंह: थाने पहुंचे घरवालों को पुलिस ने दुत्कार दिया: अब तक मुकदमा दर्ज कराने कोई नहीं आया-पुलिस: कक्षा दस की छात्रा है 17 साल की ज्योति सिंह: यूपी में मायावती की सरकार भले ही प्रदेश में महिलाओं और गरीबों पर जुल्म के खिलाफ कडी कार्रवाई के दावे करे, लेकिन ऐसे दावे केवल कागजों पर ही हैं। गरीबी और पिछलडेपन से जूझ रहे सूबे के ललितपुर में एक बालिका के साथ हुए हादसे ने पूरे बुंदेलखण्ड को दहलाकर रख दिया है। इस हादसे में गांव के पांच बदमाशों ने एक स्कूली बालिका के घर घुस कर उसके साथ बलात्कार करने की कोशिश की, लेकिन इसीबीच घरवालों के आ जाने पर उन्होंने इस 17 साल की बालिका को मिट्टी का तेल डाल कर फूंक दिया।
अब यह बालिका जिला अस्पताल में भर्ती करायी गयी है। डाक्टरों के अनुसार इस बच्ची का शरीर 95 फीसदी तक जल चुका है। बच्ची के बचने की कोई भी उम्मीद नहीं है। उधर घरवालों का आरोप है कि इस मामले की रिपोर्ट कराने वे थाने पहुंचे तो पुलिसवालों ने उन्हें भगा दिया और मामला दर्ज करना तो दूर, अभियुक्तों पर भी कोई कार्रवाई नहीं की। जबकि पुलिस का तर्क है कि इस घटना की रिपोर्ट लिखाने कोई आया ही नहीं। अगर पुलिस की बात पर यकीन कर भी लिया जाए तो अब हालत यह है कि ऐसे रोंगटे खडे कर देने वाली वारदात पर खुद हस्तक्षेप करने के बजाय पुलिस अब पीडितों के आने की प्रतीक्षा कर रही है।
ललितपुर -जिस देश की राष्ट्रपति महिला हो और प्रदेश की मुखिया भी महिला हो महिलाएं हर क्षेत्र में आगे जा रही हैं लेकिन कुछ दरिंदगी सोच वाले पुरुषों में में महिला को हबस की ही नजर से देखा जाता है इन बीमार मानसिकता वाले लोगों को स्कूली बच्चों में भी केवल सेक्स ही नजर आता है दरिंदगी की हद पार कर देने वाली घटना की कड़ी में नया नाम है बुंदेलखंड के सबसे पिछड़े जिले ललितपुर का. 17 वर्षीय छात्रा ने आरोप लगाया है की उसके साथ बलात्कार मे नाकाम 5 लोगो ने उसे मिटटी का तेल डालकर आग के हवाले कर दिया.
घटना ललितपुर कोतवाली अंतर्गत पाचौनी ग्राम की है  95 % जली हुई छात्रा जिला अस्पताल मे जिन्दगी और मौत के साथ संघर्ष कर रही है 
पुलिस वही पुराना राग आलाप रही है जांच की जा रही है और दरिंदों का अभी भी पता नहीं है ललितपुर जिला अस्पताल के वर्न रूम मे जिन्दगी और मौत से लड़ रही यह 10 वी क्लास की 17 वर्षीय छात्रा ज्योति सिंह है
पूर्ण रूप से जल चुकी ज्योति का आरोप है की देर रात उसके घर मे घुसे पांच लोगो ने पहले छात्रा ज्योति के साथ बलात्कार की कौशिश की लेकिन जब उसके चिल्लाने पर घर के लोग आ गए तो उन्होंने ज्योति के ऊपर मिटटी के तेल डालकर आग के हवाले कर दिया. यह दिल दहलाने वाली घटना ललितपुर कोतवाली अंतर्गत ग्राम पाचौनी की है घटना के बाद पूर्ण रूप से जल चुकी ज्योति जिला अस्पताल मे जिन्दगी और मौत से लड़ रही है
देर रात जब ज्योति बाथरूम के लिए उठी तभी घर मे गाँव के ही पाच लोग थे जिन्होंने ज्योति को गलत नियत से पकड़ लिया जिस पर उसने चिल्लाना शुरू कर दिया जिस पर शोर सुनकर घर के सभी सदस्य उठे और पांचो को पकड़ने की कौशिश की तभी पांचो मे से दो लोगो ने ज्योति को पकड़कर उस पर मिटटी का तेल डालकर उसे आग के हवाले कर दिया और आरोपी फरार हो गए 
परिजनों का आरोप है की घटना की जानकारी जब पुलिस को दी गयी तो उनके द्वारा परिजन को धुत्कार कर भगा दिया और कोई मुकद्दमा दर्ज भी नहीं किया गया
कोतवाली पुलिस के अनुसार अभी कोई मुकद्दमा दर्ज नहीं किया गया है और घटना की तफतीस की जा रही है. जांच के बाद ही मुकद्दमा दर्ज किया जाएगा

 

Comments (0)Add Comment

Write comment

busy